Jab Bhi Teri Yaadon Ke Jakhm

Jab Bhi Teri Yaadon Ke Jakhm Bharate Hai,
Kisi Na Kisi Bahaane Ham Tumhen Yaad Karte Hain.

जब भी तेरी यादों के जख्म भरते है,
किसी न किसी बहाने हम तुम्हें याद करते हैं।

Jab Bhi Teri Yaadon Ke Jakhm Yaad Shayari
Advertisement

Itni Dooriyaan Na Badhao Thoda Sa Yaad Hi Kar Liya Karo,
Kahin Aisa Na Ho Ki Tum-Bin Jeene Ki Aadat Si Ho Jaye.

इतनी दूरियाँ ना बढ़ाओ थोड़ा सा याद ही कर लिया करो,
कहीं ऐसा ना हो कि तुम-बिन जीने की आदत सी हो जाए।

Duniya Mein Raho Gam-Zada, Ya Shaad Raho,
Aisa Kuchh Karo Ki Bahut Yaad Raho.

दुनिया में रहो ग़म-ज़दा या शाद रहो,
ऐसा कुछ करो कि बहुत याद रहो।

Tere Intezaar Ke Maare Hai Hum,
Sirf Teri Hi Yaado Ke Sahare Hai Hum,
Tujhe Chaha Tha Jeetna Is Duniya Se,
Or Aaj Tere He Haatho Haare Hai Hum.

तेरे इंतज़ार के मारे है हम,
सिर्फ तेरी ही यादों के सहारे है हम,
तुझे चाहा था जितना इस दुनिया से,
और आज तेरे ही हाथों हारे है हम।

Jo Guzar Gaya Use Yaad Mat Karo,
Kismat Mein Jo Likha Hai Uski Faryaad Mat Karo,
Kismat Mein Jo Hai Vo Hokar Rahega,
Tum Kal Ke Chakkar Mein Aaj Ko Barbad Na Karo.

जो गुज़र गया उसे याद मत करो,
किस्मत में जो लिखा है उसकी फ़रयाद मत करो,
किस्मत में जो है वो होकर रहेगा,
तुम कल के चक्कर में आज को बर्बाद न करो।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories