Duniya Ki Bhid Mein Tujhe Yaad

Duniya Ki Bhid Mein Tujhe Yaad Kar Sakoon Kuchh Pal,
Ajanabi Raahon Ki Taraf Kadam Modata Hoon.
Nasha Tha Unake Pyaar Ka, Jisamen Ham Kho Gaye,
Unhen Bhi Pata Nahin Chala Ki Kab Ham Unake Ho Gaye.

दुनिया की भीड़ में तुझे याद कर सकूँ कुछ पल,
अजनबी राहों की तरफ कदम मोड़ता हूँ।
नशा था उनके प्यार का, जिसमें हम खो गए,
उन्हें भी पता नहीं चला कि कब हम उनके हो गए।

Duniya Ki Bhid Mein Tujhe Yaad Yaad Shayari
Advertisement

Likh Doon To Laphaz Tum Ho,
Soch Loon To Khyaal Tum Ho,
Maang Loon To Mannat Tum Ho,
Aur Chaah Loon To Mohabbat Bhi Tum Hi Ho.

लिख दूँ तो लफज़ तुम हो,
सोच लूँ तो ख्याल तुम हो,
माँग लूँ तो मन्नत तुम हो,
और चाह लूँ तो मोहब्बत भी तुम ही हो।

Kitane Chehare Hain Is Duniya Mein,
Magar Hamako Ek Chehara Hi Nazar Aata Hai,
Duniya Ko Ham Kyon Dekhen,
Usaki Yaad Mein Saara Vaqt Guzar Jaata Hai.

कितने चेहरे हैं इस दुनिया में,
मगर हमको एक चेहरा ही नज़र आता है,
दुनिया को हम क्यों देखें,
उसकी याद में सारा वक़्त गुज़र जाता है।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories