Mujhe Usaki Bewafai Ne Gaalib

Ki Hamase Wafa To Gair Usako Jafa Kahate Hai,
Hoti Aayi Hai Ki Achchhi Ko Buri Kahate Hai.

की हमसे वफ़ा तो गैर उसको जफ़ा कहते है,
होती आयी है की अच्छी को बुरी कहते है।

Mujhe Usaki Bewafai Ne Gaalib Two Line Shayari
Advertisement

Main Naadaan Tha Jo Wafa Ko Talaash Karata Raha Gaalib,
Ye Bhi Na Socha Ki Apani Saans Bhi Ek Din Bewafa Ban Jayegi.

मैं नादान था जो वफ़ा को तलाश करता रहा ग़ालिब,
ये भी ना सोचा की अपनी सांस भी एक दिन बेवफा बन जाएगी।

Is Kadar Toda Hai Mujhe Usaki Bewafai Ne Gaalib,
Ab Koi Agar Pyaar Se Bhi Dekhe To Bikhar Jaata Hoon Main.

इस कदर तोडा है मुझे उसकी बेवफाई ने ग़ालिब,
अब कोई अगर प्यार से भी देखे तो बिखर जाता हूँ मैं।

Sharminda Honge Jaane Bhi Do Imtihaan Ko,
Rakhega Tum Ko Kaun Ajij Apani Jaan Se.

शर्मिंदा होंगे जाने भी दो इम्तिहान को,
रखेगा तुम को कौन अजीज अपनी जान से।

Ik Pal Mein Jo Barbaad Kar Dete Hai Dil Ki Basti Ko Faraaz,
Wo Log Dekhane Mein Aksar Maasoom Hote Hain.

इक पल में जो बर्बाद कर देते है दिल की बस्ती को फराज,
वो लोग देखने में अक्सर मासूम होते हैं।

Kamaal Ka Shakhs Tha Jisane Jindagi Tabaah Kar Di,
Raaj Ki Baat Hai Dil Usase Khafa Ab Bhi Nahin.

कमाल का शख्स था जिसने जिंदगी तबाह कर दी,
राज की बात है दिल उससे खफा अब भी नहीं।

Toone To Iraade Hi Mere Tod Diye,
Gujarega Safar Kaise Khada Soch Raha Hoon.

तूने तो इरादे ही मेरे तोड़ दिए,
गुजरेगा सफर कैसे खड़ा सोच रहा हूँ।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories