Tasbbur Mein Unake Kuchh Aise Kho Gae

Tasbbur Mein Unake Kuchh Aise Kho Gae,
Ijahaar-E-Haal Unase Na Kuchh Kar Sake.
Muddaton Ke Baad Vo Saamane Aae Is Kadara
ki Har Baat Unase Kahana Hee Bhool Gaye.

तस्ब्बुर में उनके कुछ ऐसे खो गए,
इजहार-ए-हाल उनसे न कुछ कर सके।
मुद्दतों के बाद वो सामने आए इस कदर
कि हर बात उनसे कहना ही भूल गये।

Tasbbur Mein Unake Kuchh Aise Kho Gae Romantic Shayari
Advertisement

Teri Ungaliyaan Meri Ungaliyo Se,
Jab Bhi Ulajhane Ko Machalti Hain,
Us Waqt Saari Pareshaniyaan Meri,
Khud-Ba-Khud Sulajhne Ko Machalti Hain.

तेरी ऊंगलियाँ मेरी ऊंगलियो से,
जब भी उलझने को मचलती हैं,
उस वक्त सारी परेशानियां मेरी,
खुद़-ब-खुद़ सुलझने को मचलती हैं।

Main Chahat Ban Jaoon, Aur Tu Rooh Ki Talab,
Bas Yoon Hi Jee Lenge Donon Mohabbat Bankar.

मैं चाहत बन जाऊँ, और तू रूह की तलब,
बस यूँ ही जी लेंगे दोनों मोहब्बत बनकर।

Tere Khamosh Honthon Par Mohabbat Gunagunati Hai,
Tu Meri Hai Main Tera Hoon Bas Yahi Aavaaj Aati Hai.

तेरे खामोश होंठों पर मोहब्बत गुनगुनाती है
तू मेरी है मैं तेरा हूँ बस यही आवाज आती है।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories