Rakshaabandhan Ki Shubhakaamanaen

Dil Se Dil Ki Tarah Hoti Hain,
Bahan Ko Bhi Ki Paravaah Hoti Hain,
Peso Ko Jod Diya Raakhi Se Logo Ne Sach To Ye Hai Magar,
Bahan Ko Bas Bhai Ke Pyaar Ki Chaah Hoti Hain.

दिल से दिल की तरह होती हैं,
बहन को भी की परवाह होती हैं,
पैसों को जोड़ दिया राखी से लोगो ने,
सच तो ये है मगर, बहन को बस भाई के प्यार की चाह होती हैं।

Rakshaabandhan Ki Shubhakaamanaen Rakshabandhan Wishes
Advertisement

Kitani Bhaagyashaali Hogi Yah Bahan Zisako Vida Karate Samay,
Bhaiyon Ne Apane Haath Bichha Diye, Kaash Ki Har Bahan Ko Ese Bhai Mile,
Har Bhai Ko Bahan Mile, Koi Bhi Ghar Bina Beti Ke Na Rahe

कितनी भाग्यशाली होगी यह बहन ज़िसको विदा करते समय,
भाईयों ने अपने हाथ बिछा दिये, काश कि हर बहन को एसे भाई मिले,
हर भाई को बहन मिले, कोई भी घर बिना बेटी के न रहे।

Kalai Par Resham Ka Dhaaga Hai,
Bahan Ne Bade Pyaar Se Baandha Hai,
Bahan Ko Bhai Se Raksha Ka Waada Hai,
Rakshaabandhan Ki Shubhakaamanaen.

कलाई पर रेशम का धागा है,
बहन ने बड़े प्यार से बांधा है,
बहन को भाई से रक्षा का वादा है,
रक्षाबंधन की शुभकामनाएं।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories