Raakhi Bandhawale Mere Veer

Galiyaan Phoolon Se Saza Rakhi Hain, Har Mod Par Ladakiyaan Bitha Rakhi Hain.
Pata Nahin Tum Kahaan Se Aa Jao, Isalie Sabake Haath Mein Raakhi Thama Rakhi Hai.

गलियाँ फूलों से सज़ा रखी हैं, हर मोड़ पर लड़कियाँ बिठा रखी हैं।
पता नहीं तुम कहाँ से आ जाओ, इसलिए सबके हाथ में राखी थमा रखी है।

Raakhi Bandhawale Mere Veer Rakshabandhan Wishes
Advertisement

Usaka Husan Gaya Kaleja Chir, Nayanon Se Chhoota Ek Tir,
Vo Muskarai, Nazadik Aai Aur Boli Raakhi Bandhawale Mere Veer.

उसका हुसन गया कलेजा चीर, नयनों से छूटा एक तीर,
वो मुस्कराई, नज़दीक आई और बोली 'राखी बन्धवाले मेरे वीर।'

Raakhi Ka Tyauhaar Tha, Raakhi Bandhavaane Ko Bhai Bhi Taiyaar Tha,
Bhai Bol Bahana Meri Ab To Raakhi Baandh Do,
Bahana Boli Kalai Pichhe Karo Pahale Rupaye Hazaar Do.

राखी का त्यौहार था, राखी बंधवाने को भाई भी तैयार था,
भाई बोल बहना मेरी अब तो राखी बाँध दो,
बहना बोली 'कलाई पीछे करो पहले रुपये हज़ार दो।'

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories