Manjil To Mil Jaegi

Manjil To Mil Jaegi Bhatak Kar He Sahi,
Gumaraah To Wo Hai Jo Ghar Se Nikale He Nahin.

मंजिल तो मिल जाएगी भटक कर ही सही,
गुमराह तो वो है जो घर से निकले ही नहीं।

Manjil To Mil Jaegi Bewafa Shayari
Advertisement

Kyo Judata Hai Tu Is Jahaan Se, Ek Din Ye Gujar He Jaayega,
Chaahe Kitna Bhi Samet Le Jahaan, Mutthi Se Phisal Hi Jaayega.

क्यों जुड़ता है तू इस जहाँ से एक दिन ये गुजर ही जायेगा,
चाहे कितना भी समेट ले जहाँ मुट्ठी से फिसल ही जायेगा।

Ham Apako Chahenge Wafa Ki Had Tak, Bewaphai Ko Apaki Ham Wafa Kar Denge,
Royenge Aap Hamen Dekar Saja Ek Din, Ham Aisi Khata Kar Denge.

हम आपको चाहेंगे वफ़ा की हद तक बेवफाई को आपकी हम वफ़ा कर देंगे,
रोयेंगे आप हमें देकर सजा एक दिन हम ऐसी खता कर देंगे।

Jo Dil Jinda Hi Na Ho Usake Lie Jindagi Kya Hai,
Lete Rahate Hai Naam Unaka Vo Mere Nahin To Kya Hai,
Dhadakata Rahata Hai Kahane Ko To Ye Dil Mera,
Jindagi Chalati Rahe Ya Khatm Ho Hamen Matalab Hi Kya Hai.

जो दिल जिन्दा ही ना हो उसके लिए जिंदगी क्या है,
लेते रहते है नाम उनका वो मेरे नहीं तो क्या है,
धड़कता रहता है कहने को तो ये दिल मेरा,
जिंदगी चलती रहे या ख़त्म हो हमें मतलब ही क्या है।

Farj Tha Jo Mera Nibha Diya Maine,
Usane Jo Maanga Vo Sab Diya Maine,
Wo Sunake Gairon Ki Baate Bewafa Ho Gaya,
Samajh Kar Khwaab Usko Aakhir Bhula Diya Maine.

फर्ज था जो मेरा निभा दिया मैंने,
उसने जो माँगा वो सब दिया मैंने,
वो सुनके गैरों की बाते बेवफा हो गया,
समझ कर ख्वाब उसको आखिर भुला दिया मैंने।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories