Koi Hamaara Nahin Hota

Dard Mein Koi Mausam Pyaara Nahin Hota,
Dil Ho Pyaasa To Paani Se Gujaara Nahin Hota,
Koi Dekhe To Hamaari Bebasi,
Ham Sabhi Ke Ho Jaate Hai Par Koi Hamaara Nahin Hota.

दर्द में कोई मौसम प्यारा नहीं होता,
दिल हो प्यासा तो पानी से गुजारा नहीं होता,
कोई देखे तो हमारी बेबसी,
हम सभी के हो जाते है पर कोई हमारा नहीं होता।

Koi Hamaara Nahin Hota Bewafa Shayari
Advertisement

Apanon Ne Jahar Ka Jaam De Diya,
Gairo Ne Bewafa Naam De Diya,
Jo Kahate The, Hamen Bhool Na Jaana,
Unhi Ne Bhoolane Ka Paigaam De Diya.

अपनों ने जहर का जाम दे दिया,
गैरो ने बेवफा नाम दे दिया,
जो कहते थे, हमें भूल ना जाना,
उन्ही ने भूलने का पैगाम दे दिया।

Talaash Karo Koi Tumhe Mil Jaayega,
Magar Hamaari Tarah Tumhe Kaun Chaahega,
Jaroor Koi Chaahat Ki Najar Se Tumhe Dekhega,
Magar Aankhe Hamaari Kahaan Se Laega.

तलाश करो कोई तुम्हे मिल जायेगा,
मगर हमारी तरह तुम्हे कौन चाहेगा,
जरूर कोई चाहत की नजर से तुम्हे देखेगा,
मगर आँखे हमारी कहाँ से लाएगा।

Ek Shakhs Paas Rah Ke Samajha Nahin,
Mujhe Is Baat Ka Malaal Hai, Shikawa Nahin,
Main Usako Bewafai Ka Iljaam Kaise Doon,
Usane To Dil Se Hi Chaaha Nahin Mujhe.

एक शख्स पास रह के समझा नहीं,
मुझे इस बात का मलाल है, शिकवा नहीं,
मैं उसको बेवफाई का इल्जाम कैसे दूँ,
उसने तो दिल से ही चाहा नहीं मुझे।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories