Ishk Ne Mera Haal Kuchh Aisa Kar Diya

Ishk Ne Mera Haal Kuchh Aisa Kar Diya,
Aur Ham Samajhate Rahe Sitam Hai Tumhaara.
Kitane Naadaan The Ham Jo Itanee Baat Samajh Mein Na Aaee,
Ki Mere Khvaab Sheeshe Ke Hain Aur Ye Patthar Kee Duniya.

इश्क ने मेरा हाल कुछ ऐसा कर दिया,
और हम समझते रहे सितम है तुम्हारा।
कितने नादान थे हम जो इतनी बात समझ में न आई,
कि मेरे ख्वाब शीशे के हैं और ये पत्थर की दुनिया।

Ishk Ne Mera Haal Kuchh Aisa Bewafa Shayari
Advertisement

Yun To Hai Sabkuch Mere Pas Bas Dva-E-Dil Nahi,
Door Vo Mujhse Hai Par Main Us Se Naraaj Nahin,
Maloom Hai Ab Bhi Mohabbat Karta Hai Vo Mujhse,
Vo Thoda Sa Jiddi Hai Lekin Bevafa Nahin.

यूँ है सबकुछ मेरे पास बस दवा-ए-दिल नही,
दूर वो मुझसे है पर मैं उस से नाराज नहीं,
मालूम है अब भी मोहब्बत करता है वो मुझसे,
वो थोड़ा सा जिद्दी है लेकिन बेवफा नहीं।

Bewafai Se Jyada Kya Cheez Hogi,
Gam-E-Haalat Judai Se Badhkar Kya Hogi,
Jise Deni Ho Saza Umr Bhar Ke Liye,
Saza Tanhayi Se Badhkar Aur Kya Hogi.

बेवफ़ाई से ज्यादा क्या चीज होगी,
ग़म-ए-हालत जुदाई से बढ़कर क्या होगी,
जिसे देनी हो सज़ा उम्र भर के लिए,
सज़ा तन्हाई से बढ़कर और क्या होगी।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories