Bhid Mein Dekho Tanha Rah Gaye

Jaane Meri Aankhon Se Kitane Aansoo Bah Gaye,
Insaano Ki Is Bhid Mein Dekho Ham Tanha Rah Gaye,
Karate Jo Kabhi Apani Wafa Ki Baate,
Aaj Wahi Sanam Hamen Bewafa Kah Gaye.

जाने मेरी आँखों से कितने आंसू बह गए,
इंसानो की इस भीड़ में देखो हम तन्हा रह गए,
करते जो कभी अपनी वफ़ा की बाते,
आज वही सनम हमें बेवफा कह गए।

Bhid Mein Dekho Tanha Rah Gaye Bewafa Shayari
Advertisement

Main Apane Ghar Gaya Tha Wo Jab Apane Ghar Gayi,
Phir Mujhako Kya Khabar Ki Wahaan Se Kidhar Gayi,
Samet Kar Le Ja Apani Yaadon Ke Adhoore Kisse,
Teri Agali Chaahat Mein Tujhe Inaki Bhi Jarurat Hogi.

मैं अपने घर गया था वो जब अपने घर गयी,
फिर मुझको क्या खबर की वहां से किधर गयी,
समेट कर ले जा अपनी यादों के अधूरे किस्से,
तेरी अगली चाहत में तुझे इनकी भी जरुरत होगी।

Aaj Achaanak Teri Yaad Ne Mujhe Rula Diya,
Kya Karoon Tum Ne Jo Bhula Diya,
Na Karte Wafa To Na Milati Ye Saja,
Shaayad Meri Wafaon Ne Hi Tujhe Bewafa Bana Diya.

आज अचानक तेरी याद ने मुझे रुला दिया,
क्या करूँ तुम ने जो भुला दिया,
ना करते वफ़ा तो ना मिलती ये सजा,
शायद मेरी वफाओं ने ही तुझे बेवफा बना दिया।

Mat Poochh Sabr Ki Intaha Kahaan Tak Hai,
Too Sitam Kar Le Teri Taaqat Jahaan Tak Hai,
Wafa Ki Ummid Kisi Aur Ko Hogi,
Hamen To Dekhana Hai Too Bewafa Kahaan Tak Hai.

मत पूछ सब्र की इन्तहा कहाँ तक है,
तू सितम कर ले तेरी ताक़त जहाँ तक है,
वफ़ा की उम्मीद किसी और को होगी,
हमें तो देखना है तू बेवफा कहाँ तक है।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories