Najar Ko Najar Ki Najar Se

Najar Ko Najar Ki Najar Se Na Dekho,
Kaheen Najar Ko Najar Ki Najar Na Lag Jae.
Agar Najar Ko Najar Ki Najar Lag Gai,
To Kya Buri Najar Ki Lagi Najar, Najar Rah Jae.

नजर को नजर की नजर से ना देखो,
कहीं नजर को नजर की नजर ना लग जाए।
अगर नजर को नजर की नजर लग गई,
तो क्या बुरी नजर की लगी नजर, नजर रह जाए।

Najar Ko Najar Ki Najar Se Shayari On Eyes
Advertisement

Ikraar Mein Shabdon Ki Ehamiyat Nahin Hoti,
Dil Ke Jazbaat Ki Aavaaz Nahin Hoti,
Aankhein Bayan Kar Deti Hain Dil Ki Dastaan,
Mohabbat Lafjon Ki Mohtaaj Nahin Hoti.

इकरार में शब्दों की एहमियत नहीं होती,
दिल के जज़्बात की आवाज़ नहीं होती,
आँखें बयान कर देती है दिल की दास्तान,
मोहब्बत लफ्जों की मोहताज नहीं होती।

Sagar Se Gahri Hain Aapki Ye Najren,
Khushiyon Ki Shahnai Hain Aapki Ye Najren,
Husn Ka Jaam Hain Aapki Ye Najaren,
Chhupayen Kai Armaan Aapki Ye Najren,
Le Le Na Kahin Hamari Jaan Aapki Ye Najaren

सागर से गहरी हैं आपकी ये नजरें,
खुशियों की शहनाई हैं आपकी ये नजरें,
हुस्न का जाम हैं आपकी ये नजरें,
छुपायें कई अरमान आपकी ये नजरें,
ले ले न कहीं हमारी जान आपकी ये नजरें।

Advertisement
Advertisement

Related Shayari

Shayari Categories